'विक्रम संपत' के लिए खोज परिणाम

इतिहासकार विक्रम संपत

विक्रम संपत में है पूरे वामपंथी इतिहासकार गैंग की दुकानों को बंद करने की क्षमता

स्वतंत्रता के बाद जब जवाहरलाल नेहरू युग में वामपंथी इतिहासकार एक-एक कर देश के इतिहास की धज्जियां उड़ा रहे थे तब एक ऐसे इतिहासकार हुए जिन्होंने उस जमाने में भी भारतवर्ष के इतिहास को बचाने की ज़िम्मेदारी अपने कंधों पर ली। उस इतिहासकर का नाम था RC मजूमदार! यही काम ...

इंडिया टुडे कॉन्क्लेव में आरिफ़ मोहम्मद खान

राजदीप सरदेसाई को आरिफ़ मोहम्मद खान और विक्रम संपत ने धो डाला

बेइज्ज़ती का दूसरा नाम राजदीप सरदेसाई है या राजदीप सरदेसाई का पहला नाम बेइज्ज़ती, इस प्रश्न का उत्तर उतना ही जटिल है, जितना कि इस प्रश्न का उत्तर – पहले मुर्गी आई या अंडा? हाल ही में इंडिया टुडे कॉन्क्लेव के आयोजन के दौरान अपने विषैले वामपंथी एजेंडा के लिए ...

हृदयनाथ मंगेश्कर

कांग्रेस राज में वीर सावरकर पर धुन बनाना पं हृदयनाथ मंगेशकर को पड़ा था भारी, इतिहासकार विक्रम संपत का बड़ा खुलासा

कांग्रेस पार्टी देश की स्वतन्त्रता का श्रेय तो ऐसे लेती है, मानों इस परिवार ने अनेकों त्याग किए हों, किन्तु उसके घमंड के विपरीत यथार्थ सत्य ये है कि कांग्रेस अपने कार्यों के आगे सभी को छोटा समझती है, और सबसे अधिक घृणा स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर से करती है, ...

कृषि कानून

नए कृषि कानून का असर: MP में व्यापारी ने किसान का पैसा खाया तो सरकार ने उसकी संपत्ति बेच दी

संसद द्वारा पारित नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली में पंजाब और हरियाणा के किसानों ने विरोध का झंडा बुलंद कर रखा है। इन्हें लगता है कि नया कानून इनके हितों को खत्म कर देगा, जबकि पूरे देश के अन्य किसान इससे खुश हैं। इन कृषि कानूनों के लागू होते ...

आरफा खानम शेरवानी

इरफान पठान से लेकर मनोज वाजपेयी तक: इन सभी ने आरफा खानम शेरवानी की जमकर लगाई है क्लास

आज सोशल मीडिया एक ताकतवर हथियार बन चुका है। सोशल मीडिया के मजबूत होने से आज विषैले एजेंडे को फैलाने वालों की पोल खुलने में समय नहीं लगता है। भारत के परिप्रेक्ष्य में देखा जाए तो कुछ मीडिया हाउस हैं, जिनका काम ही देश में वैमनस्य फैलाना है और वे ...

समृद्धि सकुनिया

समृद्धि सकुनिया और स्वर्णा झा- इन दो पत्रकारों ने त्रिपुरा को हिंसा की आग में झोंकने की कोशिश की

इस लेख का निहितार्थ इस प्रश्न में निहित है-“पत्रकारिता को लोकतंत्र का चौथा स्तम्भ क्यों कहा गया?” पत्रकारिता लोकतन्त्र का चौथा स्तम्भ है, सभी जानते हैं। परंतु, क्यों है? ये जानना महत्वपूर्ण है। अगर आपका यह प्रश्न निरुत्तरित रहा, तो इस स्तम्भ पर आश्रित लोकतन्त्र ध्वस्त हो जाएगा और एक ...

सावरकर और सुषमा स्वराज के नाम पर 2 नए कॉलेजों का नाम रखेगा दिल्ली विश्वविद्यालय

सावरकर और सुषमा स्वराज के नाम पर 2 नए कॉलेजों का नाम रखेगा दिल्ली विश्वविद्यालय

जो तारीख में जिंदा नहीं रखते हैं, वो तारीख में जिंदा भी नहीं रहते हैं। किसी बुद्धिमान व्यक्ति ने यह बात कही थी। आज जब इतिहास के महान नायकों की सर्वोच्चता की लड़ाई चल रही है तो उन महान नायकों का तप भी प्रशंसा और प्रतिरोध के वर्ग में बंट ...

कटोल उल्कापिंड

‘पृथ्वी की उत्पत्ति कैसे हुई?’, भारत में मिला उल्कापिंड आखिरकार इस सवाल का जवाब दे सकता है

जी हां!!! आपने बिलकुल सही सुना। 22 मई 2012 को नागपुर के कटोल शहर में दोपहर को आकाश, गर्जनाओं और अग्निशिलाओं से दीप्तिमान हो उठा। परंतु अग्नि समान ही खबर ये फैल गई कि कोई लड़ाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ है। मामला शांत हो गया लेकिन जब भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण के ...

सावरकर दया याचिका

‘गांधी के कहने पर सावरकर ने अंग्रेजों के सामने डाली थी दया याचिका’, राजनाथ सिंह के बयान ने लिबरल वाटिका में आग लगा दी है

हाल ही में अपने बयानों से उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भारत के वर्तमान रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वामपंथी खेमे में त्राहिमाम मचा दिया है। ‘वीर सावरकर – वह पुरुष जो विभाजन रोक सकते थे’ नामक पुस्तक के विमोचन के अवसर पर उन्होंने दावा किया कि महात्मा गांधी ...

कांग्रेस के राज में दूरदर्शन ने राम मंदिर के उल्लेख को बैन करना चाहा था, और रामायण को ‘सेक्यलर’ बनाना चाहा था

कांग्रेस के राज में दूरदर्शन ने राम मंदिर के उल्लेख को बैन करना चाहा था, और रामायण को ‘सेक्यलर’ बनाना चाहा था

आज हमें देखने को मिल रहा है कि वैश्विक स्तर पर किस प्रकार से सनातन धर्म को बदनाम किया जा रहा है। कहीं पर तालिबान का बचाव करने के लिए आरएसएस से तुलना की जा रही है, तो कहीं पर ‘Dismantling Global Hindutva’ जैसे कॉन्फ्रेंस आयोजित कर सनातन धर्म पर ...

आजादी का अमृत महोत्सव पोस्टर

मोदी सरकार के आजादी महोत्सव के पोस्टर से नेहरू ‘आउट’, सावरकर ‘इन’, वामपंथियों को लगी मिर्ची

भारत में जब-जब राष्ट्रवादियों का गुणगान होता है, तब-तब एक ख़ास वर्ग को दिक्कत होती है। हाल ही में राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार का नाम मेजर ध्यान चंद्र के नाम पर कया गया तब भी लेफ्ट-लिबरल लॉबी ने इस पर ख़ूब हंगामा काटा। ऐसा ही कुछ अब एक बार दोबारा ...

मॉब लिंचिंग पर पीएम को लिखे पत्र के जवाब में कंगना सहित 61 हस्तियों का ओपन लेटर

मॉब लिंचिंग पर पीएम को लिखे पत्र के जवाब में कंगना सहित 61 हस्तियों का ओपन लेटर

लेफ्ट लिबरल गैंग के कुछ प्रमुख सदस्यों ने देश के अंदर कथित नस्लभेद एवं जाति और धर्म के आधार पर हिंसक गतिविधियों को बढ़ावा मिलने पर अपनी ‘नाराज़गी’ जताते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा था। अब एक और पत्र सामने आया है लेकिन इस बार बॉलीवुड के ...

पृष्ठ 1 of 2 1 2
  • सर्वाधिक पढ़े गए
  • टिप्पणियाँ
  • नवीनतम

इस सप्ताह लोकप्रिय

Follow us on Twitter

and never miss an insightful take by the TFIPOST team