'संयुक्त राष्ट्र' के लिए खोज परिणाम

भारत संयुक्त राष्ट्र

“सुधर जाओ नहीं तो…” भारत ने संयुक्त राष्ट्र को अंतिम चेतावनी दे दी है

पिछले कुछ समय में भारत का वैश्विक कद किस तरह से बढ़ा है, इसे बताने के लिए कोई विशेष शोध करने की आवश्यकता तो है नहीं। फिर चाहे रूस और यूक्रेन युद्ध के दौरान शांति स्थापित करने के लिए पूरी दुनिया का भारत की तरफ देखना हो या फिर ऐसी ...

जयशंकर संयुक्त राष्ट्र

संयुक्त राष्ट्र में एस जयशंकर ने अपने ‘शब्दबाण’ से पाकिस्तान को छलनी छलनी कर दिया

'What's in a name? That which we call a rose by any other name would smell just as sweet.' यानी नाम में क्या ही रखा है? हम गुलाब को किसी भी नाम से पुकारे, उसकी सुगंध जस की तस रहेगी. शेक्सपीयर ने अगर ये कोटेशन दी तो ये यूं ही ...

रूस यूक्रेन युद्ध

संयुक्त राष्ट्र से लेकर G20 तक, पीएम मोदी ने कुछ इस तरह रूस-यूक्रेन युद्ध पर भारत के रुख को स्पष्ट रखा

रूस और यूक्रेन युद्ध इसी साल फरवरी में शुरू हो गया था और इस तरह जल्द ही इस युद्ध को होते हुए एक वर्ष हो जाएगा। लंबे समय से चल रहा यह युद्ध शांत नहीं हो पा रहा है बल्कि आए दिन युद्ध से जुड़ी कोई न कोई नई सूचना ...

जयशंकर संयुक्त राष्ट्र

एस जयशंकर ने तीखी आलोचना के साथ संयुक्त राष्ट्र की बखिया उधेड़ दी

कहते हैं कि यदि पंचों की ताकत कम हो तो उनका फैसला कोई नहीं मानता, न्यायालय यदि एक दो बार गलत फैसले दे दें तो उनकी विश्वसनीयता भी खत्म हो जाती है। समय के साथ यदि इंसान या संस्थान न बदले तो वह बर्बाद हो जाता है। इन संस्थानों की ...

Sri Lankan Tamils

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में श्रीलंकाई तमिलों का खुले तौर पर समर्थन कर एक तीर से दो निशाने लगाए हैं

कहते हैं कि जब आपकी इच्छा बलवान और उचित हो तब आप अपने लक्ष्य को पाने के लिए अलौकिक ताक़त पा सकते हैं, भारत के परिप्रेक्ष में यह बिल्कुल सही प्रतीत होता है। भारत शुरू से ही अपने विकास को लेकर महत्वकांक्षी रहा है, किंतु अपनी महत्वकांक्षा के क्रम में ...

UN and Russia

क्या ‘लीग ऑफ नेशंस 2.0’ बनने की कगार पर पहुंच गया है संयुक्त राष्ट्र ?

'संयुक्त राष्ट्र संघ', नाम से ही स्पष्ट होता है कि यह सभी देशों का एक अंतरराष्ट्रीय समूह है। इसका मुख्य उद्देश्य युद्धों को रोकना और विश्व में शांति, समृद्धि, एकता और मानव विकास के संदेश को बढ़ावा देना है। परंतु वर्तमान समय में संयुक्त राष्ट्र की हालत कुछ ऐसी नजर ...

S Jaishankar

‘अपनी औकात में रहो!’ तीस्ता सीतलवाड़ को लेकर विलाप कर रहे संयुक्त राष्ट्र को भारत ने धो दिया

अब से कुछ वर्ष पूर्व अगर हम कहते कि UN को हम उसकी औकात बता सकते हैं, तो आप भी बोलते, मज़ाक चल रहा है क्या? परंतु लगता है हमारे शत्रु स्वयं ही आतुर है कि आइए मालिक, हमारी भी तनिक खातिरदारी कर ही दीजिए। गुजरात दंगों पर दुष्प्रचार फैलाने ...

Hindi in UN

संयुक्त राष्ट्र में हिंदी का डंका बजा है, स्वर्गीय अटल जी को धन्यवाद कहिए

देश की कमान अगर मजबूत हाथों में हो तो विश्व पटल पर राष्ट्र को अलग पहचान मिलती है। भारत के संदर्भ में यह बात एकदम सही साबित हो रही है। पिछले 8 सालों में जब से मोदी सरकार सत्ता में आई दुनिया भारत को अलग नजरों से देखने लगी है। ...

V. Muraleedharan

वी मुरलीधरन ने संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन में पश्चिमी देशों को जमकर लताड़ा

भारत के द्वारा उठाए गए रणनीतिक कदमों पर पश्चिम के दिए जाने वाले फालतू के ज्ञान का जवाब देते हुए भारत के विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने अपने बयानों से उसे चुप करा दिया है। अपने सटीक जवाबों से मुरलीधरन ने ग्लोबल स्तर पर भारत की तटस्थता और निर्भरता ...

तमाशा बनकर रह गया है संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद

तमाशा बनकर रह गया है संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद

दूसरों को उपदेश देना जितना सरल है उससे अधिक कठिन है उसे अपने स्तर  पर अमल में लाना। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद भी वही संस्था है जो ज्ञान देती है पर उसी ज्ञान को खुद के लिए अमल में लाने पर उसकी घिग्घी बंध जाती है। जिसके नाम में ही ...

इस्लामोफोबिया पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के खिलाफ अपने रुख से भारत बेजुबानों को आवाज दे रहा है

इस्लामोफोबिया पर संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव के खिलाफ अपने रुख से भारत बेजुबानों को आवाज दे रहा है

भारत ने संयुक्त राष्ट्र संघ के मंच पर पाकिस्तान तथा ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कंट्रीज की ओर से प्रस्तुत किए गए एक प्रस्ताव का विरोध किया है जिसके अंतर्गत 15 मार्च को इस्लामोफोबिया के विरुद्ध लड़ने के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में मनाए जाने की बात कही गई थी। हुआ यह ...

NATO और संयुक्त राष्ट्र – वैश्विक संगठन के नाम पर दो बड़े मजाक!

NATO और संयुक्त राष्ट्र – वैश्विक संगठन के नाम पर दो बड़े मजाक!

यूक्रेन-रूस युद्ध अपने चरम पर है। रूसी सैनिक अब यूक्रेन के क्षेत्रों के अंदर हैं और लड़ाई अब सीमा से आगे सड़कों और शहरों में लड़ी जा रही है। इस बीच, यूक्रेनियन हैरान हैं कि नाटो और संयुक्त राष्ट्र (यूएन) जैसे सुपरनेशनल संगठन उनका बचाव करने के लिए क्यों नहीं ...

पृष्ठ 1 of 101 1 2 101
  • सर्वाधिक पढ़े गए
  • टिप्पणियाँ
  • नवीनतम

इस सप्ताह लोकप्रिय

Follow us on Twitter

and never miss an insightful take by the TFIPOST team