'सुखोई विमानों' के लिए खोज परिणाम

ब्रह्मोस एनजी सुखोई वायुसेना

डरो पाकिस्तान! हमारे सुखोई-30 MKI विमानों में अब सटीक, आधुनिक और घातक बह्मोस-NG मिसाइलें हैं

जल्द ही भारतीय वायु सेना की मारक क्षमता में बढ़ोत्तरी होने वाली है। इसके लिए सुपरसोनिक ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल के एक नए लाइटर संस्करण को भारतीय वायुसेना के फ्रंटलाइन फाइटर जेट्स, यानी सुखोई 30 एमकेयू में एकीकृत किया जाएगा। यह न केवल भारतीय वायुसेना की मारक क्षमता में बढ़ोत्तरी करेगा, ...

लड़ाकू

भारत को 5वीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों की विकट आवश्यकता है और Make In India ही है एकमात्र विकल्प

भारतीय सीमा विश्व की सबसे जटिलतम और खतरनाक सीमा है। जटिलतम इसलिए क्योंकि हमारे दो पड़ोसियों को ये सीमाएं मान्य नहीं है और खतरनाक इसलिए कि इस विवादित सीमा के सभी पक्षकार परमाणु संपन्न राष्ट्र हैं। ऊपर से दोनों अलोकतांत्रिक राष्ट्र लोकतांत्रिक भारत को अपना दुश्मन मानते है और भारत ...

पाकिस्तान एफ-16

भारत ने नाकाम की पाकिस्तानी एयरफोर्स की बड़ी साजिश, टोही ड्रोन के साथ एफ-16 विमानों के पूरे बेड़े ने की थी नापाक कोशिश

भारतीय वायुसेना ने एक बार फिर से बड़ी पाकिस्तानी साजिश को नाकाम कर दिया है। पाकिस्तान ने सोमवार अल सुबह एफ-16 विमानों का एक बेड़ा पंजाब बॉर्डर पर भारतीय सेना की टोह लेने भेजा था। ये पाकिस्तानी लड़ाकू जेट्स एक सर्विलांस ड्रोन के साथ उड़ान भर रहे थे। जैसे ही ...

अंडमान और निकोबार की रणनीतिक क्षमता में इस तरह से ऐतिहासिक वृद्धि कर रहे हैं पीएम मोदी

अंडमान और निकोबार की रणनीतिक क्षमता में इस तरह से ऐतिहासिक वृद्धि कर रहे हैं पीएम मोदी

बंगाल की खाड़ी में स्थित अंडमान निकोबार द्वीप समूह जो बंगाल की खाड़ी में भारत को सामरिक दृष्टि से बढ़त प्रदान करते हैं, उनके विकास पर पिछले 8 वर्षों में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सराहनीय कार्य हुआ है। अंडमान और निकोबार कमांड 2001 में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई ...

एमके-1 मिसाइल

भारत की इस स्वदेशी मिसाइल से थर-थर कांप रहे हैं दुश्मन देश

आत्मनिर्भर भारत अब महज एक कल्पना नहीं रह गया है। बल्कि आज भारत हर क्षेत्र में आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है। रक्षा क्षेत्र में भी भारत स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा दे रहा है। रक्षा क्षेत्र में धीरे-धीरे भारत आत्मनिर्भर तो बन ही रहा है इसके साथ-साथ निर्यातक भी बन ...

bramhosSS

कैसे ब्रह्मोस मिसाइल भारत के लंबे तट प्रांतों और समुद्र की रक्षा करता है

भारत ने बुधवार को सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस (BrahMos Supersonic Cruise Missile) का परीक्षण किया. जमीन से जमीन पर मार करने वाली इस मिसाइल (Surface to Surface Missile) का अंडमाननिकोबार में सफल परीक्षण किया गया, रक्षा अधिकारियों ने इस संबंध में जानकारी दी है। ANI ने ट्विटर पर रक्षा अधिकारियों के ...

हाशिमारा एयरबेस

हाशिमारा एयरबेस पर राफेल की तैनाती से भारत ने चीन को मुंहतोड़ जवाब दिया है

भारत में बहुचर्चित राफेल विमान की दूसरी स्क्वाड्रन के विमान अब फ्रांस से भारत आने लगे हैं। भारत ने राफेल विमान की अपनी पहली स्क्वाड्रन को अंबाला एयरबेस पर तैनात किया है। यहाँ से भारत, पाकिस्तान और चीन दोनों की सीमा पर आक्रामक तेवर दिखाने के लिए राफेल का इस्तेमाल ...

Wing commandar Arun Prakash

जब एक भारतीय पायलट ने अमेरिका को दिखा दी थी उसकी औकात

कहानी की शुरुआत होती है दिसंबर 1971 से, जब भयंकर ठंड में कोहरे की ऐसी चादर बिछी थी जिसमें कुछ भी दिखाई नहीं दे रहा था लेकिन खून में जोश और जज़्बा भी कम नहीं था. यह कहानी है एक भारतीय युवा पायलट की जिसने पकिस्तान की ओर से लड़ने ...

tejas

वैश्विक डिफेंस मार्केट में तेजस खरे सोने की तरह चमक रहा है, कारण जान लीजिए

जो भारत कभी केवल हथियारों के आयात के लिए ही जाना जाता था। आज वह विश्व में न केवल बेहतरीन और अद्वितीय हथियारों का निर्माता बनकर उभर रहा है। बल्कि सैन्य हथियारों के निर्यातक के रूप में भी अपनी पहचान बना रहा है। 5 अगस्त 2022 को लोकसभा बैठक में ...

Indian Air Force

भारतीय वायुसेना दोतरफा युद्ध के लिए है तैयार?

अभी हाल ही में भारतीय वायुसेना के 2 पायलटों के मिग 21 हादसे में शहीद होने के बाद भारतीय वायु सेना ने फैसला किया था कि अब धीरे-धीरे वायु सेना से मिग 21 की पूरी फ्लीट को हटा दिया जाएगा क्योंकि अब वे बहुत पुराने हो चुके हैं। देश की ...

modi & si jinping

चीन के नकली फाइटर जेट को मुंहतोड़ जवाब देगी भारत की एस-400 मिसाइल

गलवान में शर्मनाक हार के बाद से चीन कुछ समय के लिए मुंह फुलाकर शांत बैठा था लेकिन अब हाल ही में आ रही खबरों के अनुसार चीन ने पूर्वी लद्दाख में अपनी हवाई गतिविधियां तेज कर दी है, चीनी लड़ाके अक्सर दोनों पक्षों के बीच 10 किलोमीटर के नो-फ्लाई ...

misra

भारत-मिस्त्र की तेजस डील- हिंदुस्तान वैश्विक रक्षा निर्माता बनने की दिशा में बढ़ गया है

वक्त बदलते देर नहीं लगती । कुछ वर्षों पहले का समय ऐसा था, जब भारत अपनी रक्षापूर्ति के लिए दूसरे देशों पर निर्भर हुआ करता था। भारत दुनिया के सबसे बड़े रक्षा आयातकों में से एक था। परंतु अब रक्षा क्षेत्र में भारत केवल आत्मनिर्भर ही नहीं बन रहा, बल्कि ...

पृष्ठ 1 of 3 1 2 3
  • सर्वाधिक पढ़े गए
  • टिप्पणियाँ
  • नवीनतम

Follow us on Twitter

and never miss an insightful take by the TFIPOST team