'DRDO' के लिए खोज परिणाम

2-डीजी दवा price

DRDO की दवा 2-DG कोविड के सभी variants से लड़ने में सक्षम है, Study में हुआ खुलासा

DRDO द्वारा पेश की गई 2डीजी दवा, कोविड के हर वेरियंट्स से लड़ने में सक्षम हैं। दरअसल एक नए अध्ययन में दावा किया गया है कि, DRDO द्वारा विकसित की गई, 2-डीजी दवा कोरोनावायरस बीमारी (कोविड -19) के सभी प्रकारों के खिलाफ प्रभावी है और यहां तक की वायरस में ...

CSIR व CSIO यूवी-सी 254 nm तकनीक

कैसे DRDO जैसे सरकारी संस्थान प्राइवेट प्लेयर्स के साथ मिलकर डिलीवरी जल्दी सुनिश्चित कर रहे हैं

वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR)- केंद्रीय वैज्ञानिक उपकरण संगठन (CSIO) ने कोविड-19 का मुकाबला करने के लिए  यूवी (UV) कीटाणुशोधन (यूवी-सी 254 nm) तकनीक को 27 स्वदेशी निर्माताओं को हस्तांतरित कर दिया है। बता दें कि एरोसोल के माध्यम से कोविड संक्रमण हवा में भी फैल रहा है और ...

DRDO

कांग्रेस के शासन में DRDO बोझ था, अब ये मिसाइल और दवा दोनों बना रहा है जिससे कांग्रेस चिढ़ गई है

वर्षों तक UPA तथा कांग्रेस सरकार में DRDO को एक अक्षम संस्था के रूप में देखा जाने लगा था क्योंकि फण्ड की कमी और पर्याप्त प्रोत्साहन न होने के कारण यह संस्था निरंतर महत्वपूर्ण खोज नहीं कर पा रही थी। अब मोदी सरकार में DRDO का कायापलट हो गया है ...

DRDO 2- DG दवा

DRDO की जीवन रक्षक दवा 2-DG की Liberal Media और वित्तीय विशेषज्ञों द्वारा आलोचना की जा रही है

हाल ही में DRDO और डॉक्टर रेड्डी ने साथ मिलकर कोविड-19 से लड़ने के लिए जीवन रक्षक दवा 2-DG तैयार की गई है। DRDO के दावे के मुताबिक 2-DG 3 दिन में बिना ऑक्सीजन सपोर्ट के 50 प्रतिशत मरीजों को ठीक किया है। ऐसी जीवन रक्षक दवा के खिलाफ देश ...

“3 दिन में बिना Oxygen सपोर्ट के 50 प्रतिशत कोरोना मरीज ठीक”, DRDO की नई दवाई चमत्कारिक है

“3 दिन में बिना Oxygen सपोर्ट के 50 प्रतिशत कोरोना मरीज ठीक”, DRDO की नई दवाई चमत्कारिक है

देश में कोरोना के दूसरे चरण में बिगड़े हुए हालात से लोहा लेने के लिए केंद्र सरकार लगातार कोशिश कर रही है। कोरोना के खिलाफ इस युद्ध में डिफेंस तकनीक पर काम करने वाला DRDO लगातार मदद कर रहा है। रिपोर्ट के अनुसार DRDO की तरफ से तैयार की गई ...

ISRO

DRDO के बाद अब ISRO आया मदद के लिए सामने, बनाया तीन तरह के वेंटिलेटर और concentrator

आज भारत वैश्विक महामारी की दूसरी चपेट का सामना कर रहा है। इस लड़ाई में देश के जांबाज़ कोरोना वॉरियर्स के साथ देश के प्रमुख वैज्ञानिक संस्थान जैसे ISRO और डिफेंस के रिसर्च केंद्र DRDO भी अपना बड़ा योगदान दे रहे हैं। आपको बता दें कि हाल ही में ISRO ...

COVID-19 की लड़ाई में DRDO बना रक्षक, संस्था की भूमिका की सराहना की जानी चाहिए

COVID-19 की लड़ाई में DRDO बना रक्षक, संस्था की भूमिका की सराहना की जानी चाहिए

कोरोना के संदिग्ध रोगियों का पता लगाने के लिए रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) और सेंटर फॉर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस एंड रोबोटिक्स (सीएआईआर) ने एक artificial intelligence (AI) algorithm बनाया है। यह AI छाती के एक्स-रे से covid-19 का पता लगाएगा। इसके डेवलपर्स के अनुसार, चेस्ट एक्स-रे स्क्रीनिंग के लिए ...

DRDO

“तेजस” फाइटर जेट की तकनीक का इस्तेमाल कर लखनऊ के अस्पतालों में Oxygen प्लांट स्थापित करेगा DRDO

कोरोना के बढ़ते कोहराम से पूरा देश परेशान है। कहीं ICU बेड की कमी है तो कही ऑक्सीजन की। अब इसी ऑक्सीजन की कमी को कम करने के लिए DRDO सामने आया है। रिपोर्ट के अनुसार लखनऊ में रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वारा स्थापित किए जाने वाले अस्पतालों में ...

नेहरू का बिगाड़ा, मोदी ने संवारा- DRDO अब बदल चुका है और यह भारत के लिए बेहद अच्छा है

नेहरू का बिगाड़ा, मोदी ने संवारा- DRDO अब बदल चुका है और यह भारत के लिए बेहद अच्छा है

ऐसा लग रहा है कि पंडित नेहरू के जमाने से अपनी सुस्ती और सफलता से अधिक असफलता के लिए मशहूर DRDO अब जाग चुका है और उसमें अब एक नई ऊर्जा दिखाई दे रही है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन यानि DRDO की स्थापना 1958 में “भारत की रक्षा सेवाओं ...

DRDO

पिछले 65 वर्षों से DRDO पर लगा था सुस्त संस्था का Tag, आज ताबड़तोड़ मिसाइलों का सफल परीक्षण कर रहा है

चीन के साथ सीमा तनाव के बाद से भारत ने पिछले 45 दिनों में 12 मिसाइलों का सफल परीक्षण किया है। ये सभी परीक्षण डिफेंस रिसर्च ऐंड डेवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशन द्वारा बनाए गए मिसाइलों का ही किया गया जिससे अब भारत अपने पड़ोसियों के सामने बेहद मजबूत दिखाई देने लगा है। ...

ड्रोन

ड्रोन ही होगा रक्षा सौदों का भविष्य, DRDO ने ‘घातक’ को लाकर इस क्षेत्र में भी अपने कदम बढ़ा दिये हैं

रक्षा क्षेत्र में भारत का दायरा धीरे-धीरे ही सही लेकिन ठोस रूप से बढ़ रहा है। भारतीय डीआरडीओ द्वारा डिजाइन किए गए घातक ड्रोन की सफलता इस बात का सबसे सटीक उदाहरण है, इसके अगले जेनरेशन की डिजाइन का काम शुरू कर दिया गया है। भविष्य में ड्रोन कहीं भी ...

F INSAS

F-INSAS, लैंडिंग क्राफ्ट असॉल्‍ट, निपुण माइंस और भी बहुत कुछ, देश के सैनिकों के हाथ में आया साक्षात काल

भारतीय सेना संख्या के मामले में दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी सेना है और साहस, जज़्बे एवं युद्ध कौशल में अद्वितीय. लेकिन हमारे जवान आज भी दूसरे विकसित और विकासशील देशों के सैनिकों के मुकाबले ऐसे उपकरणों का इस्तेमाल करते आ रहे हैं, जो अधिक विकसित नहीं हैं. अभी तक ...

पृष्ठ 1 of 7 1 2 7
  • सर्वाधिक पढ़े गए
  • टिप्पणियाँ
  • नवीनतम

Follow us on Twitter

and never miss an insightful take by the TFIPOST team