कमला हैरिस ने अमेरिका को बताया कि नाम में कितना कुछ छिपा है

न्यूयॉर्क, 31 अक्टूबर (आईएएनएस)। डेमोक्रेटिक पार्टी की उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस अपने चुनाव प्रचार के अंतिम पड़ाव में वैश्विक संस्कृतियों के सम्मान की बात कर रही हैं। साथ ही बता रही हैं कि किसी भी व्यक्ति का नाम कितना अहम होता है।

हैरिस के पहले नाम कमला का उच्चारण अमेरिकी राजनीति हलकों में लंबे समय से गलत तरीके से उच्चारित किया जाता रहा है लेकिन पिछले कुछ हफ्तों में ऐसा कुछ ज्यादा ही बार हुआ है।

नस्लीय राजनीति पर चल रहे राष्ट्रीय फेरबदल के दौरान रिपब्लिकन ने हैरिस के पहले नाम का बार-बार मजाक उड़ाया है।

फॉक्स न्यूज के टकर कार्लसन और हाल ही में जॉर्जिया के सीनेटर डेविड पेर्डयू ने कमला हैरिस के पहले नाम का गलत इस्तेमाल किया है। ट्रंप की हालिया रैली में पेर्डयू ने कमला हैरिस के नाम को लेकर कहा, कह-मह-लाह? काह-माह-लाह? कमला-माला-माला? मैं नहीं जानता, वो जो भी हो। जबकि वे अमेरिकी सीनेट में 3 साल तक हैरिस के साथ काम कर चुके हैं।

इन घटनाक्रमों के बीच 56 वर्षीय हैरिस ने पीपल मैगजीन के एक साक्षात्कार में कहा, मुझे लगता है कि आपके माता-पिता आपको जो भी नाम देते हैं, वह आपके लिंग या जाति या पृष्ठभूमि या आपकी ग्रैंडमदर किस भाषा में बात करती हैं, उसके आधार पर होता है। कई संस्कृतियों में तो नामकरण समारोह होते हैं। बच्चे का नाम उसके लिए एक सबसे बड़ा पारिवारिक उपहार होता है। इसीलिए सभी के नामों का सम्मान करें, जो उनके परिवार द्वारा उन्हें दिया गया है।

कमला का अर्थ कई भारतीय भाषाओं में कमल होता है और यह लड़कियों के लिए प्रचलित नाम है।

हैरिस ने पीपल से कहा, यह सम्मान के बारे में है और यह उन सभी के लिए सम्मान के बारे में है जो एक नाम के साथ आता है।

–आईएएनएस

एसडीजे/वीएवी


Indo Asian News Service

Indo Asian News Service

India's Largest Independent News Service

  • सर्वाधिक पढ़े गए
  • नवीनतम

इस सप्ताह लोकप्रिय