'चीन' के लिए खोज परिणाम

बख्तियार खिलजी, नालंदा

उसने नालंदा विश्वविद्यालय जलाया, हमने उसकी शान में शहर का नाम बदल दिया

बख्तियार खिलजी जिसने नालंदा विश्वविद्यालय जलाया पूरा उपमहाद्वीप इस बात को जानता है कि इस्लामिक शासन ने 'स्वर्ण युग' की कैसे शुरुआत की। समाज के कई वर्गों के बीच में पूर्ण शांति और सामंजस्य कैसे अस्तित्व में था। गैर मुसलमानों के खिलाफ कोई धार्मिक भेदभाव नहीं था। एक कदम आगे ...

राहुल गांधी, साक्षात्कार

निकोलस बग्रुएन के साथ इंटरव्यू में राहुल गाँधी ने अपनी निरक्षरता का नायाब नमूना पेश किया है

रामचंद्र गुहा ने अपनी पुस्तक "पैट्रियट्स एंड पार्टिशन्स' में लिखा है, "यदि शास्त्री जी को 5 साल दिया गया होता तो वहां नेहरु-गांधी वंश जैसा कुछ भी नहीं होता। संजय गांधी और राजीव गांधी निश्चित रूप से जिंदा होते और निजी जीवन जी रहे होते हैं। पूर्व प्रधानमंत्री शायद एक ...

अयोध्या, योगी सरकार, राम प्रतिमा

सौ मीटर ऊँचे भगवान श्री राम की प्रतिमा देखने में कैसा लगेगा? सपना साकार होने वाला है

मराठी कवि जी.डी. मदगुलकर द्वारा संगीतबद्ध और सुधीर फड़के द्वारा गाया गया गीत रामायण मराठी साहित्य में एक विशेष स्थान रखता है। यह महाकाव्य रामायण का वर्णन करते 56 गीतों से बना है। आलोचनात्मक रूप से भी प्रशंसित गीत रामायण ने जी.डी. मदगुलकर को 'आधुनिक वाल्मीकि' की ख्याति दिलवाई जिसकी ...

महाराजा हरि सिंह जम्मू कश्मीर

किसानों के बड़े हितैषी, शिक्षाविद, समानता के प्रणेता परन्तु इतिहासकारों ने किया इतिहास से गायब

भारत देश की भूमि में अनेकों महानायको ने जन्म लिया है। महान समाजसुधारक, धर्म प्रवर्तक, योद्धा, साधु, संत, सन्यासी, क्रांतिकारी, देशप्रेमी, राष्ट्रवादी तरह के तमाम नायकों ने इस पवित्र भूमि को अपने अपने रक्त और कर्म से सींचा है। बहुत से ऐसे गुमनाम नायक रहें हैं जिनके साथ कभी इतिहास ...

रोहिंग्या मुसलमान

मानवता की आड़ में ये लोग सिर्फ अपना एजेंडा चला रहे हैं

आज मेनस्ट्रीम मीडिया और सोशल मीडिया में जहाँ तहाँ रोहिंग्या मुसलमानों का मुद्दा गर्माया हुआ है। एक तरफ जहाँ केंद्र सरकार ने रोहिंग्या मुस्लिमों को देश से बाहर करने का फैसला कर लिया है वहीं दूसरी तरफ लिबरल जमात रोहिंग्या समुदाय के पक्ष में एक होती दिख रही है। दरअसल ...

बुलेट ट्रेनों

बुलेट ट्रेन वाले चुटकुले पढ़ लिए? अब ये पढ़िए कैसे मोदीजी का सपना भारत का भविष्य बदलने वाला है

1837 में, भारत का पहला रेलवे आर्थर कॉटन द्वारा चेन्नई में रेड हिल्स और चिंदराप्रीपेट के बीच चलाने के लिए डिजाइन किया गया था । रेलवे एक नई तकनीक थी जो सिर्फ यूरोप में थी और यह आदमी आर्थर कॉटन एक ब्रितानी कॉलोनी में इसे बना रहा था। उस समय ...

नदी में सिक्के

अगर आप नदी में सिक्के फेंकते हैं, तो आज ही रुक जाए – आप पुण्य के चक्कर में पाप कर रहे हैं

आज का युग तीव्र गति से आधुनिकीकरण को अपना रहा है| ऐसे समय में स्वच्छता और जागरूकता महज एक पहेली बन कर रही है| जनमानस में जागरूकता की कमी और पुराने रीति रिवाजों के नाम पर जाने अनजाने में वे भयंकर जल प्रदूषण को बढ़ावा दे रहे हैं| जिससे अन्य ...

निर्मला सीतारमण

ये है निर्मला सीतारमण के रक्षा मंत्रालय की रेस जीतने का सबसे बड़ा कारण

मोदी सरकार के हालिया कैबिनेट बदलाव ने इस बार व्यक्तिगत प्रदर्शन पर ज़्यादा ज़ोर दिया है, जिससे साफ है की मोदी सरकार सिर्फ योग्यता और निश्छल प्रदर्शन पर केन्द्रित रहेगी। इसीलिए, श्रीमति निर्मला सीतारमण, जो एक कुशल प्रवक्ता से पहले एक मुखर वाणिज्य मंत्री में, जिनहोने भारतीय अर्थव्यवस्था को उसके ...

Ramayan and Mahabharat short Essay in Hindi

इन अद्भुत प्रमाणों को देखे और स्वयं निर्धारित करें कि आप अभी भी रामायण महाभारत को मिथ्या कहेंगे

जिसे भी आज हम इतिहास कहते हैं, शायद भविष्य में वो मिथ्या होगी, और जिसे आज हम मिथ्या कहते हैं, वो किसी जमाने में इतिहास था। हाल ही में हावर्ड विश्वविद्यालय आने वाले सेमेस्टर में ‘इंडियन रेलीजियंस थ्रू थेर नेरेटिव लिटरेचर्स’ के शीर्षक वाले कोर्स में रामायण और महाभारत जैसे ...

योगी आदित्यनाथ गोरखपुर इंसेफ्लाइटिस

योगी आदित्यनाथ को गोरखपुर-काण्ड के लिए खरी-खोटी सुना ली? अब पूरी कथा पढ़िए

इस लेख का पूरा विश्लेषण हमारे अंग्रेजी लेख “Done blaming Yogi Adityanath for the Gorakhpur Tragedy? Now read the Full Story” में आप पढ़ सकते हैं जहाँ इस जापानी इंसेफ्लाइटिस बीमारी के इतिहास और योगी आदित्यनाथ के प्रयास को पूरे विस्तार से बताया गया है इस बात में कोई संदेह ...

सुषमा स्वराज

भाई वाह, सुषमा स्वराज जी ने तो अकेले ही पूरे विपक्ष को धूल चटा दी

विदेश मंत्री, श्रीमती सुषमा स्वराज सही कारणों से ही अखबारों की सुर्खियों में रहती है। तीन साल हो गए हैं सरकार के कार्यकाल में और वर्तमान कैबिनेट की वो न सिर्फ सबसे लोकप्रिय, बल्कि सबसे सम्मानित चेहरों में से एक हैं, और इन्हीं  तीन सालों में देश ने इनके राजनैतिक ...

अमित शाह

विरोधियों ने देश पर 70 साल राज किया, अमित शाह ने 3 साल में सब तबाह कर दिया, कारण साफ़ है

अमित शाह 2010 में पहली बार चर्चा में आए, जब मीडिया के दलालों ने इनका गृह मंत्री पद से इस्तीफा मांगा। केंद्र में सत्तासीन काँग्रेस सरकार तब इन्हे गृहमंत्री के तौर पर एक फर्जी एंकाउंटर के झूठे आरोप में फंसाना चाहते थे। बेशर्मों की जो टोली इनकी चापलूसी करती थी, ...

पृष्ठ 426 of 430 1 425 426 427 430
  • सर्वाधिक पढ़े गए
  • टिप्पणियाँ
  • नवीनतम

Follow us on Twitter

and never miss an insightful take by the TFIPOST team